Bhojpuri - सांस्कृतिक धरोहर (Cultural Heritage)

bhojpuri

सबके रही साथ तबे आगे बढी भोजपुरी

भोजपुरी के भाषा के दर्जा दिलावे के कोशिश लंबा समय से चल रहल बा। समय-समय प इ मांग जोर पकड़ लेला, बाकी अब ले...
'sarnath' where Lord Buddha gave his first preaching

‘सारनाथ’ जहवाँ भगवान बुद्ध पहिला उपदेश दिहले

सारनाथ एगो प्रमुख बौद्ध तीर्थस्थल ह। अइसन मानल जाला कि ज्ञान प्राप्ति के बाद भगवान बुद्ध आपन प्रथम उपदेश एहिजे दिहले रहलन। एही से...
Different street of Banaras

गलियन के शहर बनारस

बनारस गलियन के शहर ह। अगर आप सभे के निगाह भी बनारस के दिदार कईल चाहतीया, त आइ, घूमि अउर जानी इ शैतान के...
Sarnath Place whrere lord buddha gave his first lecture

‘सारनाथ’ जहवाँ भगवान बुद्ध आपन प्रथम उपदेश दिहले रहलन

सारनाथ एगो प्रमुख बौद्ध तीर्थस्थल ह। अइसन मानल जाला कि ज्ञान प्राप्ति के बाद भगवान बुद्ध आपन प्रथम उपदेश एहिजे दिहले रहलन। एही से...
tarkulha-mata

देश के इकलौता मंदिर जहवाँ प्रसाद में मिलेला मटन

तरकुलहा देवी मंदिर गोरखपुर से 20 किलोमीटर के दूरी प स्थित हिन्दून के प्रमुख धार्मिक स्थल ह। मान्यता ह कि इ इलाका पहिले जंगल...
Evening-Ganga-Aarti

आज के दिन बहुते बा खास, जब देवता मनावले दिवाली

गंगा के किनारे अर्धचंद्राकार घाट प झिलमिलात असंख्य दिया, आकर्षक आतिशबाजी, घंटा-शंख के गूंज अउर आस्था-विश्वास से लबरेज देव-दीपावली काशी के सबसे खास दीपावली...
Kaashi Ghaat

काशी के मुमुक्षु भवन, जहवां मोक्ष चाहे वाला रहेलsन

काशी शहर..जेकर जड़ के बारे में खुद इतिहास भी आपन सब ज्ञान भूला जाएला। महागाथा से हट के ...जवन परंपरा से भी प्राचीन ह...उहे...

जानीं कि छठ व्रत से सीता जी कैसे जुड़ल बानीं

छठ व्रत के कई प्रचलित लोक-कथा बा जवना में एक कथा के अनुसार कहल जाला कि भगवान राम भी छठ पूजा कइले रहन। भगवान...
right method of Chhath Puja

छठ पूजा मनावे के सही विधि का ह

नेम-धरम,साफ-सफाई छठ पर्व के सबसे पहिला शर्त अउर मान्यता ह। छठ पर्व के शुरुआत नहाय खाय से होला। नहाय खाय के दिन शुद्ध घी...
Chhath puja kahhe manaval jala

छठ पूजा काहे मनावल जाला

छठ पूजा के बड़ा महत्व बा। सुख-शाति, घर-परिवार, संतान प्राप्ति अउर साल भर सबके मंगल कामना खातिर घर में छठ पूजा मनावल जाला। छठपूजा...

Recent Posts