जेल में बंद महिला कैदी के बच्चन के खातीर अब खुली प्ले स्कूल

0
258
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जेल में बंद हर महिला कैदी के बच्चन खातीर प्ले स्कूल खुली। बच्चन के बौधिक बिकास के साथे-साथ मनोविज्ञान में बदलाव लाके घर जईसन माहौल दिहल जाई, उनके महसूस नाही होखे दिहल जी कि ऊ जेल में बंद बाड़ें। उनके खातीर रहन-सहन, खेल-कूद आउर पढ़ाई के व्यवस्था कईल जाई। जेल से बाहर पार्क में भी घुमावल जाई, आउर बर्थडे पार्टि भी मनावल जाई। सुबे के जेल में करीब 164 बच्चा महिला कैदी के साथ रह ताड़ें।

सुबे में भागलपुर आउर बक्सर जिला में महिला कारा बा। दूनू जेल में सजायाफ्ता महिला कैदी के रखल जाला, लेकिन विचाराधीन कैदी के जिला कारागार में रखल जाला। वहां पर काफी संख्या में महिला कैदी के बच्चा रह रहल बाड़ें। जेल में बंद बच्चन के बौद्धिक बिकास में कमी पावल गईल रहल। जेल प्रशासन बच्चन के भविष्य संवारे खातीर कईगो योजना तैयार कईले बा। एही के तहत बच्चन के प्ले स्कूल में दाखिला करावल जाई।

महिला कक्षपाल आउर जेल में बंद शिक्षित महिला कैदी के एकर जिम्मेदारी दिहल गईल बा। सुबह से शाम तक के खातीर बच्चन के खातीर रूटीन तैयार कईल गईल बा। समय-समय पर हेल्थ चेकअप भी करावल जाई, ताकि बच्चा स्वस्थय रह सकें। बच्चन के भोजन आउर नाश्ता के मैन्यू भी तैयार कईल गईल बा।

जेल में बंद बच्चन के खातीर कारा मुख्यालय अलग से राशि के प्रावधान कईले बा। बच्चन के खेले के खातीर कई तरह के खिलौना, अक्षर ज्ञान के खातीर फ्लैक्स, वार्ड में बनावल गईल प्ले स्कूल के दिवार के फल, फूल, जानवर व कार्टून के चित्रकारी करावल गईल बा। जेल प्रशासन के मुताबिक सूबे के जेल अधीक्षक के सामान खरीदे के खातीर राशि उपलब्ध करावल गईल बा। कई जेल में सामान के खरीद कईल गईल बा। सबके जन्मतिथि के अनुसार बर्थडे मनावल जाई। जेल आईजी मिथीलेश मिश्रा स्वयं कारा सुधार के योजनाओं के मॉनेटरिंग कर रहल बाने। कैदी के बच्चन के महिला कक्षपाल के सुरक्षा में पार्क में घुमावल जाई। कटिहार जेल में बच्चन के पार्क में घुमावल गईल बा।

पुर्णिया विधायक के हत्या के आरोप में महिला कारा, भागलपुर में बंद रूपक पाठक के प्ले स्कूल के देखरेख के जिम्मेदारी दिहल गईल बा। जेल में करीब 20 बच्चा महिला कैदी के साथ रहत बाड़ें। बच्चन के साथे खेले आउर पढ़ावे के खातीर दूगो महिला कक्षपाल के टीचर बनावल गईल बा। जेल अधिकारी कहलें कि रूपक पाठक पूर्णिया में पहिले स्कूल चलावत रहली। रूपक पाठक में बच्चन के पढ़ावे आउर देखभाल के बेहतर समझ बा। एहिसे रूपक पाठक के शिक्षक के रूप में चयन कईल गईल बा।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.